कुछ अधूरे सपने …..

सुबह सुबह से शोर गुल … नींद टूट गयी और बस हो गया दिन शुर .... वही रोज की भागदौड़ , रास्ते चलते भागते लोग … भूल चुके जिंदगी का मतलब … एक जोर का धक्का लगा और में गिर पड़ी …
उठ के देखा एक नयी जगह , क्या कर रही हूँ यहाँ ?? कैसे आई ?? ये तो वही जगह है जो मैं रोज सपनों में देखा करती हूँ ….वही समन्दर का किनारा और वही पेड जिसके नीचे मैं बैठ कर ख्यालों में खो जाया करती थी , वही ढलती सुनहरी शाम रंगों से सजी …
एक एक कर के सारे सपने याद आने लगे …कुछ अधूरे भूले सपने जिनपे बीते वक़्त की रेत पड चुकी थी . भागते भागते भूल ही गयी की जाना कहाँ है , किसलिए इतना भाग रही हूँ ,उस दौड़ में शामिल हूँ जिसमें लोग बिन मंजिल भागते जाते हैं… "कोई न जीतता है और न कोई हारता है क्यों की ये दौड़ कभी थमती नहीं है …"
एक तेज हवा का झोंका मेरे गालों को छूकर मुझे ख्यालों की नींद से जगा गया…. जिंदगी की भागदौड़ में कभी इस शीतल पवन का अहसास न हुआ … हवा ने जगाया तब भी था मुझे पर मुझे ही इस शीतल पवन को महसूस करने का वकत और होश नहीं था , जिंदगी जीने का जोश नहीं था, दिल में उमंग नहीं थी या यूँ कहूं जिंदगी को में कभी जाना नहीं था.
ये सब सोअच ही रही थी की एक मछली का झुण्ड दिख पड़ा , सोचा में भी उनके संग हो लूं और बस कूद पड़ी पानी में ….. शीतल जल और उसपे बिखरी चांदनी …शायद शब्दों में बयाँ नहीं होगा कैसा महसूस हुआ … पहले ये सब कभी महसूस नहीं हुआ था , सब कुछ नया और सुखद था शायद मैं अपने आप को खुश रखना और दिल से मुस्काना ही भूल गयी थी ..
एक अधूरा सपना जिंदगी को जीने का ,अपने आप में खोने का …. मंजिल की तलाश जो है बस यहीं कहीं मेरे आस पास….
उठो ........ कबसे आवाज लगा रही हूँ और तुम हो की सपनो में खोयी हो … प्रिया ने गुस्सा करते हुए कहा , नींद तो खुल गयी पर उन अधूरे सपनो पे पड़ी वक़्त की धुल भी हट गयी … हाँ ये मेरा ख्वाब ही था पर "कभी कभी ख्वाब भी जिंदगी को एक नया मकसद दे देते हैं ."


अब कभी न कभी तो ए अधूरा सपना पूरा होगा … कोई जाने या न जाने पर मुझे मंजिल का पता मालूम होगा.

कभी न कभी तो ये अधूरा सपना पूरा होगा………….

9 comments:

राकेश कौशिक said...

"कभी न कभी तो ये अधूरा सपना पूरा होगा…………."
शुभकामनाएं

सुशील बाकलीवाल said...

शुभागमन...!
कामना है कि आप ब्लागलेखन के इस क्षेत्र में अधिकतम उंचाईयां हासिल कर सकें । अपने इस प्रयास में पर्याप्त सफलता तक पहुँचने के लिये आप हिन्दी के दूसरे ब्लाग्स भी देखें और अच्छा लगने पर उन्हें फालो भी करें । आप जितने अधिक ब्लाग्स को फालो करेंगे आपके अपने ब्लाग्स पर भी फालोअर्स की संख्या बढ सकेगी । प्राथमिक तौर पर मैं आपको 'नजरिया' ब्लाग की लिंक नीचे दे रहा हूँ, किसी भी नये हिन्दीभाषी ब्लागर्स के लिये इस ब्लाग पर आपको जितनी अधिक व प्रमाणिक जानकारी इसके अब तक के लेखों में एक ही स्थान पर मिल सकती है उतनी अन्यत्र शायद कहीं नहीं । आप इस ब्लाग के दि. 18-2-2011 को प्रकाशित आलेख "नये ब्लाग लेखकों के लिये उपयोगी सुझाव" का अवलोकन अवश्य करें, इसपर अपनी टिप्पणीरुपी राय भी दें और अगली विशिष्ट जानकारियों के लिये इसे फालो भी अवश्य करें । निश्चय ही आपको इससे अच्छे परिणाम मिलेंगे । पुनः शुभकामनाओं सहित...
http://najariya.blogspot.com/2011/02/blog-post_18.html

सुशील बाकलीवाल said...

शुभागमन...!
कामना है कि आप ब्लागलेखन के इस क्षेत्र में अधिकतम उंचाईयां हासिल कर सकें । अपने इस प्रयास में पर्याप्त सफलता तक पहुँचने के लिये आप हिन्दी के दूसरे ब्लाग्स भी देखें और अच्छा लगने पर उन्हें फालो भी करें । आप जितने अधिक ब्लाग्स को फालो करेंगे आपके अपने ब्लाग्स पर भी फालोअर्स की संख्या बढ सकेगी । प्राथमिक तौर पर मैं आपको 'नजरिया' ब्लाग की लिंक नीचे दे रहा हूँ, किसी भी नये हिन्दीभाषी ब्लागर्स के लिये इस ब्लाग पर आपको जितनी अधिक व प्रमाणिक जानकारी इसके अब तक के लेखों में एक ही स्थान पर मिल सकती है उतनी अन्यत्र शायद कहीं नहीं । आप इस ब्लाग के दि. 18-2-2011 को प्रकाशित आलेख "नये ब्लाग लेखकों के लिये उपयोगी सुझाव" का अवलोकन अवश्य करें, इसपर अपनी टिप्पणीरुपी राय भी दें और अगली विशिष्ट जानकारियों के लिये इसे फालो भी अवश्य करें । निश्चय ही आपको इससे अच्छे परिणाम मिलेंगे । पुनः शुभकामनाओं सहित...
http://najariya.blogspot.com/2011/02/blog-post_18.html

सुशील बाकलीवाल said...

शुभागमन...!
कामना है कि आप ब्लागलेखन के इस क्षेत्र में अधिकतम उंचाईयां हासिल कर सकें । अपने इस प्रयास में पर्याप्त सफलता तक पहुँचने के लिये आप हिन्दी के दूसरे ब्लाग्स भी देखें और अच्छा लगने पर उन्हें फालो भी करें । आप जितने अधिक ब्लाग्स को फालो करेंगे आपके अपने ब्लाग्स पर भी फालोअर्स की संख्या बढ सकेगी । प्राथमिक तौर पर मैं आपको 'नजरिया' ब्लाग की लिंक नीचे दे रहा हूँ, किसी भी नये हिन्दीभाषी ब्लागर्स के लिये इस ब्लाग पर आपको जितनी अधिक व प्रमाणिक जानकारी इसके अब तक के लेखों में एक ही स्थान पर मिल सकती है उतनी अन्यत्र शायद कहीं नहीं । आप इस ब्लाग के दि. 18-2-2011 को प्रकाशित आलेख "नये ब्लाग लेखकों के लिये उपयोगी सुझाव" का अवलोकन अवश्य करें, इसपर अपनी टिप्पणीरुपी राय भी दें और अगली विशिष्ट जानकारियों के लिये इसे फालो भी अवश्य करें । निश्चय ही आपको इससे अच्छे परिणाम मिलेंगे । पुनः शुभकामनाओं सहित...
http://najariya.blogspot.com/2011/02/blog-post_18.html

संगीता पुरी said...

इस नए सुंदर से चिट्ठे के साथ हिंदी ब्‍लॉग जगत में आपका स्‍वागत है .. नियमित लेखन के लिए शुभकामनाएं !!

आनन्‍द पाण्‍डेय said...

ब्‍लागजगत पर आपका स्‍वागत है ।

नि:शुल्‍क संस्‍कृत सीखें । ब्‍लागजगत पर सरल संस्‍कृतप्रशिक्षण आयोजित किया गया है
संस्‍कृतजगत् पर आकर हमारा मार्गदर्शन करें व अपने
सुझाव दें, और अगर हमारा प्रयास पसंद आये तो संस्‍कृत के प्रसार में अपना योगदान दें ।

यदि आप संस्‍कृत में लिख सकते हैं तो आपको इस ब्‍लाग पर लेखन के लिये आमन्त्रित किया जा रहा है ।

हमें ईमेल से संपर्क करें pandey.aaanand@gmail.com पर अपना नाम व पूरा परिचय)

धन्‍यवाद

Kailash C Sharma said...

बहुत सुन्दर..होली की हार्दिक शुभकामनायें !

हरीश सिंह said...

" भारतीय ब्लॉग लेखक मंच" की तरफ से आप को तथा आपके परिवार को होली की हार्दिक शुभकामना. यहाँ भी आयें, यदि हमारा प्रयास आपको पसंद आये तो फालोवर अवश्य बने .साथ ही अपने सुझावों से हमें अवगत भी कराएँ . हमारा पता है ... www.upkhabar.in

Samik... said...

bohot khubsoorat hai...

Post a Comment

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...
 

गर्द-ए-रहगुज़र © 2010

Blogger Templates by Splashy Templates